बुधवार, मई 22, 2013

वीर्य जल्दी निकल जाना

प्र. डाक्टर साहब मैं बहुत परेशान हूँ । मेरी शादी को दो महीने हो चुके है, जैसे ही मैं सेक्स करना शुरू करता हूँ,मेरा वीर्य निकल जाता है मेरी पत्नी मुझसे बुरी तरह नाराज रहती है मेरा वैवाहिक जीवन पूरी तरह से बरबाद हो चुका है। क्या मैं और लोगों की तरह सेक्स कर पाउंगा वैसे मुझे विश्वास नही होता की मैं कभी अपनी पत्नी को खुश कर पाउँगा प्लीज कोई उपाय बताईये आपकी बहुत बहुत मेहरबानी होगी.                      
                                               जावेद अहमद २९ साल मुरादाबाद
                                                                                   
उ.जावेद जी आप बिल्कुल चिन्ता मत कीजिये,हजारों लोग आपकी जैसी समस्या से परेशान हैं।उचित चिकित्सा करके आप अपना जीवन बचा सकते है, और विश्वास तो आपको ही करना होगा क्योंकि कोई भी चिकित्सा या कोई भी काम करने के लिये विश्वास सबसे पहले जरूरी होता है।जब तक हम मर ना जायें हमें अपना विश्वास जीवित रखना चाहिये,अविश्वास के साथ कोई भी काम करे तो परिणाम शून्य ही रहता है, और पूरे विश्वास के साथ किये हुये काम हमे निश्चित ही सफलता दिलाते है ,कोई भी बीमारी शारीरिक होने के साथ साथ मानसिक भी होती है, मन को भी विश्वास की जड़ गहरी जमा कर स्वस्थ कर लेना चाहिये। आप नीचे लिखे आयु.नुस्खे लेकर देखिये
१ सिध्द मकरध्वज ५ ग्राम,वगं भस्म १० ग्राम,स्वर्ण भस्म ५ ग्राम,संगजराहत भस्म १० ग्राम, कुक्टाण्ड्त्वक १०ग्राम कुल ४० ग्राम दवा की ६० पुडिया बना लें एक एक पुडिया दूध के साथ दिन में दो बार लें
२चन्द्रप्रभा वटी ५०० मि.ग्रा., रसायन चूर्ण ३ग्राम,शतावरी चूर्ण ३ग्राम दिन मे तीन बार लें।
३     दूसरी दवा लिंग पर लगाने के लिये है इससे आपको कोई नुक्सान नहीं होगा इसलिए परेशान न हों।  अश्वगंधा तेल १० ग्राम + मालकांगनी तेल १० ग्राम + श्रीगोपाल तेल १० ग्राम + लौंग का तेल २ ग्राम + निर्गुण्डी का तेल १० ग्राम इन सब को मिला कर इसमें केशर १ ग्राम + जायफल २ ग्राम + दालचीनी २ ग्राम । इन सबको कस कर घुटाई कर लें तो क्रीम की तरह बन जाएगा। इसे किसी मजबूत ढक्कन की काँच या प्लास्टिक की चौड़े मुँह की शीशी में रख लीजिये। इसे नहाने के बाद अंग सुखा कर भली प्रकार हल्के हाथ से मालिश करते हुए अंग में जाने दें। लगभग दस मिनट में यह क्रीम लिंग में अवशोषित हो जाएगी। इस प्रकार यदि दिन में समय मिले तो दो बार क्रीम लगायें,  यदि कोई भी शंका या परेशानी हो तो आप सीधे मुझसे ई-मेल (aayushved@gmail.com) या मोबाइल नंबर 09224359159 पर संपर्क करें।
मानसिक शक्तियों के अनुभूत प्रयोग ,जीवन में मन की शक्तियों का इस्तेमाल हमें जरूर करना चाहिये कैसे ? जानने के लिये देखिये मेरी लिखी दूसरी वेबसाईट बस इस लिंक पर click करें । www.mindhypnotism.com

गुरुवार, मई 09, 2013

व्रद्धावस्था में सेक्स की समस्या

प्र.श्रीमान डा.साहब मेरी आयु ५५ साल है ।सेक्स करने की इच्छा तो बहुत होती है पर शरीर साथ नही देताहै, लिंग मे बहुत थोड़ा सा तनाव आता है, और तुरन्त ही शिथिल हो जाता है। खुद को बहुत डिप्रेस फील करता हू। मेडिकल स्टोर से कुछ दवा लेकर भी मैंने खायी पर कोइ रिजल्ट नही मिला थोडा बी.पी. भी जादा रहता है। सर जी क्या मेरी सेक्स की पावर बढ नही सकती क्या कोई ऎसी दवा नही है जिससे मै भी सेक्स लाईफ का आनंद ले सकूँ। आपकी बहुत मेहरबानी होगी ।
                                         मनोहर सिंग आयु ५५ साल लखनऊ                                                                                                               
उ, प्रिय मनोहर जी, जैसे जैसे हमारी आयु बढती जाती है, वैसे वैसे हमारी इन्र्दिया शिथिल पडती जाती है ,शरीर में नये कोशो का निर्माण कम होने लगता है, पर हमारी वासनायें कम नही होती ,मन ये मानने को तैयार ही नही होता की हम अब युवा नही रहे परन्तु यदि हम अपनी सही तरह से देखभाल करते रहे तो किसी भी आयु में आप सेक्स क आनंद ले सकते है। उचित शक्तिवर्धक दवा लेते रहने से  लिंग पर शक्तिवर्धक
 तेलों की सही प्रकार से मालिश करके हम जिन्दगी का पूरा आनंद ले सकते है। मैं इस तरह के अनेक लोगों को जानता हू जो आपसे काफी जादा आयु के होकर भी सेक्स का भरपूर आनन्द ले रहे है। बस आपके विश्वास की आवश्यकता है, एक बार इन बलर्वधक दवाओं का सेवन करके तो देखिये फिर आप हैरान रह जायेंगे।

१.अशवगंधा चूर्ण एक एक चम्मच पानी के साथ दिन में दो बार
२.सफेद मूसली १००ग्राम ,तालम्खाना २००ग्राम, गोखरू३००ग्राम,मिश्री ६००ग्राम सभी का चूर्ण बना कर दिन मे दो बार दूध के साथ ले।
३.अशवगंधा  चूर्ण, शुध्द विजया, कौंच बीज चूर्ण, सभी १००-१०० ग्राम मिलाकर दूध से दिन मे एक एक चम्मच दिन मे दो बार ले।
४. अशवगंधा तेल+मालकागंनी तेल+निर्गुण्डी तेल+श्री गोपाल तेल+लवंग तेल सभी १०-१० मिलीग्राम लेकर इसमें एक ग्राम जायफल पाउडर +एक ग्राम दालचीनी पाउडर मिला ले और नहाने के बाद लिंग पर १० मिनट तक मालिश करें।
५.सोने से पहले जैतून का तेल स्वर्ण युक्त लिंग पर खींचते हुये  मालिश करें

  यदि कोई भी शंका या परेशानी हो तो आप सीधे मुझसे ई-मेल (aayushved@gmail.com) या मोबाइल नंबर 09224359159 पर संपर्क करें। 
मानसिक शक्तियों के अनुभूत प्रयोग ,जीवन में मन की शक्तियों का इस्तेमाल हमें जरूर करना चाहिये कैसे ? जानने के लिये देखिये मेरी लिखी दूसरी वेबसाईट बस इस लिंक पर click करें । www.mindhypnotism.com
                                                                      

बुधवार, मई 08, 2013

सेक्स की अजीब समस्या

प्र. डाक्टर साहब मैं एक अजीब तरह की समस्या में फंस गया हूँ ।अनचाहे ही बिना मेरी इच्छा के मेरा वीर्य निकल जाता है।जोर से खाँसी आयी तो भी वीर्य स्खलित हो जाता है, जरा सा भी कोई अशलील विचार दिमाग में आया कि चिपचिपा सा पदार्थ लिंग से निकलने लगत है प्लीज कोई अच्छी सी दवाई बतायें दिन प्रतिदिन मै बेहद कमजोर होता जा रहा हूँ। आपका जीवन भर आभारी रहूँगा।                    
                                                          प्रदीप कुमार हरियाणा से आयु ३२ साल
.प्रिय प्रदीप जी, इस तरह की बीमारी में रोगी को कमर दर्द की शिकायत ,हाथ पाँव दुखना, खाने के बाद आलस आना,मलावरोध होना, पेट में गैस बनना, चेहरे की रौनक खत्म हो जाना, मन में उदासीनता, आँखो के नीचे कालापन आ जाना, सेक्स के प्रति अरूचि लिंग का शिथिल रहना ,लिंग में नसों का उभर आना, अत्यधिक कमजोरी लगना, पेशाब के साथ वीर्य निकल जाना, अंड्कोश लटके हुये रहना हाथ पैर में जलन होना ।
हमेशा मन में निराशा के भाव रहना, किसी भी काम में मन ना लगना, आदि तमाम शारीरिक दोष पैदा हो जाते हैं।
मेरे तमाम जीवन का अनुभव है, कि भोलेभाले मासूम लोग जिन्हें सेक्स की सही जानकारी नही है,वो लोग चालबाज और ठग लोगों के जाल में फंसकर अपना धन और स्वास्थ गवां देते हैं,और अपने मन में धारणा बना लेते हैं ,कि मैंने अपना इतना इलाज करवाया पर कुछ फायदा नहीं हुआ और आगे भी नही होगा। फिर वे एक निराशा और हताशा से भरा जीवन जीने लगते हैं । नहीं ऐसा नही है आपको निराश होने की जरूरत नही है, मैं आपको यकीन दिलाता हूँ, कि आप बिल्कुल सही हो सकते हो बिल्कुल स्वस्थ हो सकते हो हजारों लाखों लोग स्वस्थ हुये हैं,तो आप क्यों नही हो सकते विश्वास कीजिये क्योंकि विश्वास पहली बात है विश्वास ही किसी चिकित्सा का मूल आधार होता है एक बार विश्वास हो जाये फिर काम बहुत आसान हो जाता है, आप नीचे लिखी औषधियाँ लेकर देखिये आप पायेंगे की आपका जीवन आनन्द से भरने लगा।
                         

१. अश्वगंधा,शुद्ध विजया,कौंचबीज तीनो को अच्छी तरह खरल कर लीजिये फिर एक कप दूध चार कप पानी चार चम्म्च शक्कर की लस्सी बनाकर २ ग्राम सुबह शाम लस्सी के साथ लीजिये।
२. यदि मलावरोध है तो विरेचन औषधियाँ लीजिये।
                                                                                        
३.अश्वगंधा तेल,निर्गन्डी तेल,श्रीगोपाल तेल,मालकांगनी तेल १०-१० मिली १ग्राम जायफल पाउडर, १ग्राम दाल्चीनी पाउडर,१० मिली लवंग तेल आधा ग्राम सोने की भ्स्म मिलाकर तेल बना लें और लिंग पर नहाने के बाद १० मिनट तक मालिश करें
| यदि कोई भी शंका या परेशानी हो तो आप सीधे मुझसे ई-मेल (aayushved@gmail.com) या मोबाइल नंबर 09224359159 पर संपर्क करें।

मानसिक शक्तियों के अनुभूत प्रयोग ,जीवन में मन की शक्तियों का इस्तेमाल हमें जरूर करना चाहिये कैसे ? जानने के लिये देखिये मेरी लिखी दूसरी वेबसाईट बस इस लिंक पर click करें । www.mindhypnotism.com

रविवार, मई 05, 2013

मन की शक्तियों से सेक्स शक्ति की ओर

प्र. आदरणीय डाक्टर साहब मै‘ कई दिनो से अपनी सेक्स पावर मे‘ काफी कमी महसूस कर रहा हूँ । मैने बहुत दवा ली हैं। फिर भी कुछ फायदा नही हुआ अब मै दवा खा-खा कर तंग आ गया हूँ। क्या कोई  
ऎसा तरीका नहीं है की बिना दवा खाये मै अपनी खोई हुयी ताकत दोबारा पा सकूँ । यदि आप कोई ऎसा
रास्ता बता दें तो आपकी बहुत मेहरबानी होगी।
             

 निशांत सोनी अहमदाबाद आय़ु २८ साल                 

उ.प्रिय सोनी जी आपने बहुत अच्छा सवाल पूछा है। नही तो लोग बस मुझसे केवल दवा ही पूछ्ते है।
हम सोचते है कि केवल दवा खाने से ही हम स्वस्थ हो जायेंगे। ऎसा नही है, दवा तो बस ५% ही काम
करती है ।बाकी तो हम अपने विचारों की वजह से स्वस्थ होते हैं । दरअसल हम जब दवा लेना शुरू करते हैं तो हमारे मन के विचारो में परिर्वतन शुरू हो जाता है कि हमने दवा लेना शुरू कर दी है और हम स्व्स्थ हो रहे है विचारों का यह बदलाव अदभुत काम करता है और हम स्व्स्थ होने लगते हैं। यदि आप मुझ पर विश्वास कर सकें तो आप यकीन मानिये बिना दवा के हम बहुत से रोगों से मुक्त हो सकते है हमारे मन में बहुत रहस्य्मय शक्तियाँ होती हैं। लेकिन हमे इनका पता नहीं रहता है लेकिन जब कोई योग्य गुरू हमें मिल जाता है।और हमें मन की इन शक्तियों का प्रयोग बताता है तो हम हैरान रह जाते हैं, असल में हमारा मन चौबीस घंटे विचारों से भरा रहता है।और जैसे ही हम कोई ऎसा तरीका सीख लेते है जिससे हम अपने मन को विचारों से खाली कर सके तो ह्मारा मन बहुत शक्तिशाली हो जाता है उस समय जो भी विचार हम अपने मन में दोहराते हैं वो एक तरह से हमारे मन में रिकार्ड हो जाता है जो चीज हमारे मन में रिकार्ड हो जाती है उसका प्रभाव हमारे शरीर पर होने लगता है।और हम मनचाहे परिणाम पा सकते है टेलीफोनिक काऊंसलिंग से इसे बहुत आसानी से सीखा जा सकता है आप इसको जरूर आजमा कर देखिये आपको उम्मीद से ज्यादा सफलता मिलेगी मेरा दावा है।  यदि कोई भी शंका या परेशानी हो तो आप सीधे मुझसे ई-मेल (aayushved@gmail.com) या मोबाइल नंबर 09224359159 पर संपर्क करें